Sunday, 7 April 2013

About Us


राष्ट्रीय शिक्षा 1986 की नीति के रूप में (1992 में) नवीनीकृत और 1992 के कार्यक्रम के तहत भारत सरकार ने प्राथमिक शिक्षा के सर्वव्यापीकरण के राष्ट्रीय प्रतिबद्धता की पुष्टि (कक्षा आठवीं तक की शिक्षा) एनपीई के पैरा 5.12 में हम 21 वीं सदी में प्रवेश से पहले संतोषजनक गुणवत्ता की मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा की उम्र 14 वर्ष तक के सभी बच्चों के लिए प्रदान की जानी चाहिए।

यह एक विश्व बैंक समर्थित परियोजना बेसिक शिक्षा परियोजना राज्य में गुणवत्ता बुनियादी शिक्षा के विस्तार के लिए 1993 में शुरू किया गया था,  इस परियोजना के सफल संचालन हेतु एक बोर्ड "उत्तर प्रदेश सभी के लिये शिक्षा परियोजना परिषद (उ0प्र0सभी के लिए परियोजना परिषद) 1860 के सोसायटी पंजीकरण अधिनियम के तहत 17 मई 1993 को स्थापित किया गया है। 
उद्देश्य इस प्रकार हैं: -.
(i) उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा संशोधित संस्करण द्वारा प्रकाशित परियोजना दस्तावेज में उल्लिखित के रूप में परिषद के सभी परियोजना (बाद में "परियोजना" के रूप में संदर्भित) के लिए उत्तर प्रदेश में शिक्षा के कार्यान्वयन के लिए एक स्वायत्त और स्वतंत्र निकाय के रूप में कार्य करेगा समय - समय पर समीक्षा के आधार पर तैयार की. परिषद की गतिविधियों के चयनित जिलों में ध्यान केंद्रित किया जाएगा, लेकिन उत्तर प्रदेश के पूरे राज्य को विस्तार कर सकते हैं चयनित और प्रायोजित परियोजनाओं के संबंध में. परिषद समग्र सामाजिक और सांस्कृतिक स्थिति में एक मूलभूत बुनियादी शिक्षा प्रणाली में बदलाव, और यह माध्यम के बारे में लाने के लिए एक सामाजिक मिशन के रूप में कार्य करने के लिए स्थापित किया गया है. परियोजना के निम्नलिखित विशिष्ट लक्ष्यों को परिषद द्वारा अपनाई जाएगी।

(ii) सभी की सार्वभौमिक भागीदारी, औपचारिक या अनौपचारिक शिक्षा कार्यक्रम के माध्यम से प्राथमिक चरण पूरा होने तक, उम्र के 14 साल तक के सभी बच्चों के लिए प्राथमिक शिक्षा प्रदान करना व उनके उपयोग की एक संयुक्त कार्यक्रम के रूप में देखना।
(iii) युवाओं के लिए सतत शिक्षा और कौशल विकास कार्यक्रमों का प्रावधान।
(iv) शिक्षा और महिला सशक्तिकरण में अधिक से अधिक लिंग समानता के लिए सुझाव बना।
(v) अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और समाज के गरीब वर्गों के बच्चों को समान शिक्षा का अवसर प्रदान करने के लिए आवश्यक हस्तक्षेप कर रही है।
(vi) विज्ञान और पर्यावरण और सामाजिक न्याय की भावना का उपदेश, संस्कृति और संचार पर सभी शैक्षिक गतिविधियों पर विशेष जोर देते हुए.
(vii) 1993 में शुरू बेसिक शिक्षा परियोजना 17 जिलों को कवर किया. परियोजना 2000 में पूरी हो गई थी. जिला प्राथमिक शिक्षा कार्यक्रम द्वितीय 2003 में समाप्त हो गया है!
(viii) वर्ष 2003 से सर्व शिक्षा अभियान योजना संचालित है, उक्‍त योजना का कार्यकाल वर्ष 2014 में समाप्ति की ओर है।
(ix) भारत साक्षर मिशन योजना का क्रियान्‍वयन प्रारम्‍भ किया गया है, जो कि वर्ष 2017 तक संचालित रहेगी। 

जिला परियोजना कार्यालय के अन्‍तर्गत निम्‍नलिखित योजनाऍ संचालित की जा रही है - 
1- समेकित शिक्षा- विशेष आवश्‍यकता वाले बच्‍चों के लिए शिक्षा परियोजना।
2- सामुदायिक सहभागिता - ग्राम शिक्षा समितियों का प्रशिक्षण व जागरूक करना।
3- बालिका शिक्षा - बालिका शिक्षा को बढ़ावा देना, नि-शुल्‍क यूनीफार्म/ड्रेस वितरण।
4- कस्‍तूरबा गॉधी बालिका विद्यालय- आवासीय योजना के अन्‍तर्गत बालिकाओं को शिक्षित करना
5- निर्माण कार्य - नवीन विद्यालयी भवनों का निर्माण व रखरखाव।
6- प्रशिक्षण - गुणवत्‍ता सम्‍वर्धन हेतु अध्‍यापकों को सेवारत प्रशिक्षण के अन्‍तर्गत विभिन्‍न प्रकार के प्रशिक्षण देना।

जिला परियोजना कार्यालय के सृजित अस्‍थाई पद इस प्रकार है - 

1- सहायक वित्‍त एवं लेखाधिकारी
2- लेखाकार
3- जिला समन्‍वयक, समेकित शिक्षा।
4- जिला समन्‍वयक, सामुदायिक सहभागिता 
5- जिला समन्‍वयक, बालिका शिक्षा
6- जिला समन्‍वयक, निर्माण कार्य
7- जिला समन्‍वयक, विशेष शिक्षा
8- जिला समन्‍वयक, प्रशिक्षण
9-  कम्‍प्‍यूटर आपरेटर 
11-  ई0एम0आई0एस0इन्‍चार्ज
12- टंकक
13- स्‍टेनो
14- ड्राइवर
15- सेवक

जिला परियोजना कार्यालय का पता -
कार्यालय जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, फर्रूखाबाद
निकट पुलिस लाइन,
फतेहगढ़ - फर्रूखाबाद
फोन नं0 - 05692-236149
मोबाइल नं0- 9453004159
Email ID -  www.bsa.farrukhabad@gmail.com, 
                   www.farukkhabadmdm@gmail.com
Website -   www.bsafarrukhabad.blogspot.com







No comments:

Post a Comment